धोनी ने 3 बार जीती है IPL ट्रॉफी, तीनों बार जिंदगी के अलग मोड़ पर थे माही

0
धोनी ने 3 बार जीती है IPL ट्रॉफी, तीनों बार जिंदगी के अलग मोड़ पर थे माही

धोनी ने 3 बार जीती है IPL ट्रॉफी, तीनों बार जिंदगी के अलग मोड़ पर थे माही

चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भले ही पर्सनल लाइफ में किसी भी मोड़ पर रहे हों, लेकिन आईपीएल में वो हमेशा धमाल मचाते रहे हैं.

धोनी ने 3 बार जीती है IPL ट्रॉफी, तीनों बार जिंदगी के अलग मोड़ पर थे माही

नई दिल्ली: पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की जिंदगी के हर पहलू के बारे में यूं तो हर कोई जानता है. कैसे वे एक मामूली परिवार से टीम इंडिया की कप्तानी तक पहुंचे, देश के लिए वर्ल्ड कप जीता, विकेटकीपिंग में नए-नए रिकॉर्ड बनाए आदि जैसी तमाम बातें हजारों बार लिखी जा चुकी हैं. लेकिन कैप्टन कूल के नाम से मशहूर धोनी के करियर की एक ऐसी बात हम आपको बताने जा रहे हैं, जिस पर शायद ही पहले आपने कभी ध्यान दिया होगा. यह बात धौनी की टीम इंडिया में मौजूदगी से नहीं बल्कि उनकी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में चेन्नई सुपरकिंग्स की 12 साल लंबी कप्तानी से जुड़ी हुई है. धोनी ने आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स को 3 बार खिताब जिताए हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि तीनों बार धोनी की निजी जिंदगी अलग-अलग मोड़ पर थी.

माही के नाम से मशहूर धोनी की कप्तानी में सीएसके ने पहली बार आईपीएल के तीसरे संस्करण का खिताब जीता था. 2010 में खेले गए आईपीएल-3 में सीएसके के खिलाड़ियों ने 25 अप्रैल के दिन मुंबई इंडियंस की टीम को 22 रन से हराकर धौनी के हाथ में ट्रॉफी थमाई थी. धोनी उस समय भारतीय क्रिकेट के “मोस्ट एलेजबल बैचलर” थे यानी वो क्रिकेटर जिससे हर लड़की शादी करना चाहती थी.

दूसरी बार बन चुके थे ‘प्यारे पतिदेव’

2011 में आईपीएल के चौथे संस्करण में लगातार दूसरे साल धोनी को विजेता ट्रॉफी हाथ में थामने का मौका मिला था. सीएसके की टीम ने 28 मई के दिन रॉयल चैलेंजर्स बंगलूरू की टीम को 58 रन से रौंदकर यह खिताब जीता था. लेकिन एक साल के इस अंतराल में धौनी की अपनी निजी जिंदगी बदल चुकी थी. वे भारतीय क्रिकेट के ‘मोस्ट एलेजबल बैचलर’ से साक्षी सिंह के ‘प्यारे पतिदेव’ बन चुके थे. दरअसल साक्षी से प्यार करने वाले धोनी ने आईपीएल-3 का खिताब जीतने के तत्काल बाद जुलाई, 2010 में उनके साथ शादी कर ली थी.

तीसरी बार खिताब जीता तो गोद में थी प्यारी बेटी

धोनी के करियर में अपना तीसरा आईपीएल खिताब जीतने का मौका 7 साल बाद आया. 2018 में आईपीएल के 11वें संस्करण के साथ चेन्नई सुपरकिंग्स 2 साल के प्रतिबंध के बाद इस टी-20 लीग में वापसी कर रही थी. इस दबाव के अलावा धोनी के ऊपर टीम के पुराने परफॉर्मेंस का दबाव था. लेकिन इस दबाव के बीच भी कैप्टन कूल ने सीएसके को फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद पर 8 विकेट की जीत के साथ चैंपियन बनाया. लेकिन धोनी के अपना दूसरा और तीसरा खिताब जीतने के बीच के इस अंतराल में वे निजी जिंदगी में रिश्तों की एक और पायदान चढ़ चुके थे. धोनी उस समय तक एक प्यारी सी बेटी के पापा बन चुके थे यानी तीसरा खिताब उन्होंने ‘पापा धोनी’ के रूप में हाथ में थामा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here